मेरा भारत NEWS

बीएंडआर कमेटी के चेयरमैन बोले- ऐसा संभव नहीं 0 दिन पहले मेयर का था दावा- 2 माह में बनेंगी सभी सड़कें

सिटी में सीवरेज तथा पानी की पाइपलाइन डालने के लिए तोड़ी गईं सड़कों पर निगम की हालत विधानसभा चुनाव से पहले पतली होती दिखाई दे रही है। 10 दिन पहले मेयर जगदीश राज राजा ने दावा किया था कि 2 माह में सड़कें तैयार हो जाएंगी।  नगर निगम की बीएंडआर कमेटी के चेयरमैन जगदीश दकोहा ने रोड प्रोजेक्टों की रिव्यू मीटिंग बुलाई, जिसमें अफसरों ने जो डिटेल चल रहे कामों की रखी है, उसमें यह तय किया गया है कि 60 दिन में निगम सौ फीसदी सड़कें नहीं बना पाएगा।

बीएंडआर कमेटी के चेयरमैन बोले- ऐसा संभव नहीं

सिटी के सभी विधानसभा हलकों की करीब 40 करोड़ की सड़कों के काम मंजूर हो चुके हैं, लेकिन हालात यह हैं कि कैंट की 11 काॅलोनियों में सड़कें बनाने से पहले जो सीवरेज डाला जा रहा है, उसका काम पूरा करने में ही कम से कम एक महीना लगेगा, ऐसे में दिसंबर की सर्दी से पहले सड़कें बनाना बड़ा चैलेंज बन गया है। कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ चल रही परगट सिंह की खींचतान के बीच सितंबर, 2020 की मंजूर कैंट हलके की सड़कों की पेंडिंग फाइलों की समरी आज उनके प्रतिनिधि सुरिंदर सिंह भापा के सामने रखी गई। फिलहाल कैंट में सड़कों का काम अधर में ही है।

खानापूर्ति

निगम ने नेशनल हाईवे से 2 मरला कॉलोनी तक नया बाईपास तैयार किया है। इस प्रोजेक्ट की लागत करीब ₹90 लाख रुपए है। नई सड़क के दोनों तरफ मिट्टी डालकर न लेवलिंग की गई और न ही सफाई। इस कारण बरसात का पानी जमा होने पर सड़क टूटना लाजिमी है।