मेरा भारत NEWS

बिना लाइसेंस और बिना नाम के नूरपुर से शेखर रोड पर काटी जा रही है पुडा अप्रूव्ड कॉलोनी पढ़े क्या है पूरा मामल

बिना लाइसेंस और बिना नाम के नूरपुर से शेखर रोड पर काटी जा रही है पुडा अप्रूव्ड कॉलोनी पढ़े क्या है पूरा मामल

 

अवैध कॉलोनियों का बादशाह एक बार फिर चर्चा में पढ़े 

खेतों को बर्बाद करने पर तुले कॉलोनाइजर

जालंधर (विकास) देश का सबसे बड़ा मसला किसान आंदोलन किसानों का खत्म होते ही कॉलोनाइजर ओने भोले-भाले किसानों को अपने चुंगल में फंसाना शुरू कर दिया है इनके साथ 2 साल का एग्रीमेंट करके करोड़ों रुपए की जमीन लाखों में खरीद लेते हैं और उसमें सड़कें डालकर प्लांट काटने का धंधा शुरू कर देते हैं इनका यह गंदा खेल कई सालों से चलता आ रहा है और अगर सूत्रों की माने तो N नाम का यह कॉलोनाइजर प्रशासन को यह अपनी जेब में रखकर चलता हैं ऐसा ही एक मामला जालंधर पठानकोट रोड से अलावलपुर की ओर जाते हुए रास्ते में लिंक रोड जो नूरपुर गांव से गांव शेखो की ओर जाता है रास्ते में स्थित गांव नंगल सलेमपुर के बाहरी क्षेत्र में लगभग चार-पांच एकड़ में एक कॉलोनी का काम जा रही है जिसमें 20 फुट के लगभग चौड़ी सड़कें बना दी गई है जबकि गांव की सड़क 15 फुट है और गांव वालों का कहना है कि यहां गांव में अभी तक सीवरेज नहीं डाला गया और परंतु इस कॉलोनी में सिवरेज डाल कर कहा जोड़ा गया है इस का पता नहीं, कॉलोनाइजर द्वारा दीवारों पर बड़ा बड़ा लिख कर दावा किया जा रहा है यह कॉलोनी पुड्डा द्वारा पास है इसकी जमीनों में सिवरेज डाल दिया गया है और इसकी बाहरी क्षेत्र में 50 से ज्यादा दुकानों की उसारी एक-एक करके शुरू कर दी गई है। जो सरकारी निशानदेही के भी बाहर की ओर आती हुई नजर आ रही हैं इस कॉलोनाइजर का दावा है कि ये कॉलोनी पूरी तरह पास है।

इस कॉलोनी के एक साइड से हाई वोल्टेज तारे निकलती है और इस कॉलोनी में अभी तक दुकानों और प्लेटो के इलावा ना तो कोई पानी की टंकी बनी है और ना ही कोई क्यूमिनिटी हाल है ना ही कोई पार्क है जिसको देखते हुए इस कॉलोनी को शक के घेरे से भी देखा जा सकता है यहां लोगों का कहना है कि कुछ पुडा के अधिकारी हैं उनका भी यहां पर पैसा लगा हुआ है जिस कारण हमारे द्वारा भी शिकायतें वहां दी गई है और इस पर कार्रवाई नहीं होती यह भी बताया जा रहा है कि जो कॉलोनाइजर इस कॉलोनी में आ रहा है उसके नाम पर कोई भी प्रॉपर्टी नहीं है और उसके करिंदों के नाम पर ही यह सारा खेल खेला जा रहा है और यह गोरखधंधा कई सालों से ऐसे ही चल रहा है यहां पर बिना नाम के बिना लाइसेंस नंबर के बनाई जा रही है नूरपुर से शेखा रोड पर अवैध कॉलोनी । अवैध कॉलोनी में जगह जगह लिखा हुआ है किया कॉलोनी पुडा से पास है लेकिन इसका कोई लाइसेंस नंबर नहीं है करिंदों की माने तो पदाधिकारियों से हमारा है लेन-देन और फाइल पास होने को गई है जल्द ही हो जाएगी और अगर गांव के लोगों की माने तो यह कॉलोनी पूरी तरह अवैध है जो दुकानें बनाई जा रही है वह सड़क पर 3फीट बाहर को जेडहै उनके आगे कोई भी पार्किंग नहीं दी गई है तो शक के घेरे में आया यह प्रोजेक्ट इस प्रोजेक्ट को लगाने के लिए खेतों को पूरी तरह किया गया तहत महस किया गया है।

इस संबंध में जब पुड़ा के उच्च अधिकारी से बात की तो उसने कहा कि जेडीए द्वारा कोई भी कॉलोनी ऐसी पास नहीं की गई जिसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई जल्द की जाएगी।