मेरा भारत NEWS

बॉलीवुड के हीमैन जैसे नाम वाले छुटभैये नेता ने बस्तीयात क्षेत्र में मचाई लूट, थानों में सैटिंग के नाम पर लोगों का कर रहा शिकार

बॉलीवुड के हीमैन जैसे नाम वाले छुटभैये नेता ने बस्तीयात क्षेत्र में मचाई लूट, थानों में सैटिंग के नाम पर लोगों का कर रहा शिकार

जालंधर (मौदगिल): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक नारा था न मैं खाऊंगा और न खाने दूंगा..ये उन भ्रष्टाचारियों के खिलाफ प्रयोग किया गया थो जो करप्शन का पैसा खाते हैं लेकिन जालंधर में एक छुटभैये नेता ने तो बस्तीयात क्षेत्र में दूसरों की थाली का खाना खाने में भी सारी हदें पार कर दी हैं। इनका नाम बॉलीवुड के उस हीमैन जैसा है जिनके पुत्र पंजाब से सांसद हैं। वैसे उस हीमैन जो साहनेवाल से संबंध रखते हैं उनका जालंधर वाले छुटभैये नेता से एक प्रतिशत भी वास्ता नहीं है लेकिन इस छुटभैये नेता का नाम हीमैन जैसा है। वैसे इस छुटभैये नेता ने मधुबन कालोनी, राज नगर, बस्ती बावा खेल के आसपास के क्षेत्रों में अपना छोटा सा साम्राज्य फैलाया हुआ है। ये नेता मूलत: पंजाब का नहीं है और किसी और राज्य से रोजी रोटी की तलाश में यहां आया था लेकिन यहां दूसरों की रोजी रोटी को ही अपनी नेतागिरी के चक्कर में ठोकरें मारनी शुरू कर दीं। आजकल ये छुटभैया नेता आपको बस्ती गुजां अड्डे पर आइसक्रीम की दुकानों के आसपास नजर आ जाएगा। पहना इसने कुर्ता पायजामा ही होता है और खुद पतला है और दाढ़ी रखी हुई है। एक ठिकाना इसका हरबंस नगर (पुराने साजन पैलेस) में एक मिल्क बेकरी है। दोनों ठिकानों पर ये आपको मिल जाएगा। किसी की गाय चोरी हो जाए, पड़ोसियों से मारपीट हो जाए…किसी भी प्रवासी पंजाबी को कोई आपराधिक मुसीबत घेर ले ये महाशय अपना कुर्ता पायजामा पहनकर थाने पहुंचजाते हैं और धौंस जमाते हैं कि इनकी थाने में बहुत सैटिंग है। ज्यादा सैटिंग का दावा बस्ती बावा खेल थाने में किया जाता है। वैसे इस सैटिंग और हवा हवाई के चक्कर में ये एक बार छित्तर परेड करवाकर अस्पताल तक का चक्कर काट चुके हैं। तब इन्होंने राजीनामे में पैसे लिए और इनका हौसला बढ़ गया। इनका एक साथी था जो अब इनके साथ नहीं है शायद उन्हें भी इन्होंने आस्तीन के सांप की तरह डंस लिया होगा। वैसे हाल ही में ये गाय की चोरी के पीडि़त के साथ पंजाब प्रैस क्लब पहुंचे थे और हलका विधायक का नाम जानते हुए भी नहीं बोले थे। जब पत्रकारों से प्रश्न पूछे तो जी जी करने लगे। हम आपको अगली किश्त में बताएंगे कि ये दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों को कैसे ठगते हैं।