मेरा भारत NEWS

जालंधर में विज्ञापन के करोड़ों रुपये घोटाले की जांच के बाद दर्ज होगा केस आप विधायक बोले हमारी सरकार बेदाग, घोटाला बर्दाश्त नहीं

जालंधर में विज्ञापन के करोड़ों रुपये घोटाले की जांच के बाद दर्ज होगा केस आप विधायक बोले हमारी सरकार बेदाग, घोटाला बर्दाश्त नहीं

जालंधर। जालंधर के 26 यूनिपोल के विज्ञापन घोटाले पर आम आदमी पार्टी के विधायक शीतल अंगुराल व रमन अरोड़ा ने कहा है कि हम केस दर्ज करवाएंगे, घोटाला बर्दाश्त नहीं है। आप सरकार करप्शन को खत्म करने का एजेंडा लेकर सत्ता में आई है और हमारी सरकार पर दाग लगे, यह बर्दाश्त से बाहर है। इसमें अधिकारी से लेकर जो भी शामिल होंगे, किसी को बख्शा नहीं जाएगा। विधायक शीतल अंगुराल व रमन अरोड़ा जालंधर में सर्किट हाऊस में पत्रकारों से बात कर रहे थे।
पंजाब के जालंधर के मेयर ने नगर निगम में आउट डोर विज्ञापन के ठेके को लेकर मुख्यमंत्री भगवंत मान को चिट्ठी लिखी थी। मेयर जगदीश राज राजा ने चिट्ठी में स्पष्ट लिखा था कि यह ठेका बिना किसी टेंडर के दिया गया है और इसमें घोटाले की बू आ रही है। उन्होंने इस सारे मामले की निष्पक्ष एजेंसी से उच्च स्तरीय जांच करवाने की जरूरत है। जालंधर शहर में 26 यूनिपोल्स पर आउट डोर विज्ञापन के लिए कोई भी मापदंड नहीं अपनाया गया। आउट डोर विज्ञापन के लिए ना तो ई-टेंडर निकाला गया और और ना ही ई-नीलामी का कोई विज्ञापन दिया गया। ठेका देने के लिए हाउस से भी किसी तरह की मंजूरी नहीं ली गई। निगम के अधिकारियों ने सिर्फ एक पर्ची काट कर अपने एक ठेकेदार को सभी नियमों कानूनों को छींके पर टांग कर आउट डोर विज्ञापन का ठेका दे दिया गया। मजेदार बात है कि ठेके आपने आपको दिल्ली के सीएम का सलाहकार बताकर अधिकारियों पर रौब झाड़ने वाले नेता ने मिलीभगत करके दिलाया है, जिसके होटल की इमारत भी कटघरे में है। अंदर की बात है कि 26 यूनिपोल के स्थान पर कितने पोल लग चुके हैं, यह भी अधिकारी जांच करने व चेक करने नहीं जा रहे हैं। बात दिल्ली से जुड़ी हुई है और इमानदार सरकार के इमानदार अधिकारी बुरी तरह से फंसे हुए हैं।