मेरा भारत NEWS

जालंधर की मकसूदां सब्जी मंडी में भ्रष्टाचार जोरों पर, मार्किट कमेटी के फील्ड सुपरवाईजर की मिलीभगत के कारण मंडी में बन रहीं हैं अवैध शेड

जालंधर की मकसूदां सब्जी मंडी में भ्रष्टाचार जोरों पर, मार्किट कमेटी के फील्ड सुपरवाईजर की मिलीभगत के कारण मंडी में बन रहीं हैं अवैध शेड

महिंदर गाँधी

जालंधर की मकसूदां सब्जी मंडी में भ्रष्टाचार जोरों पर, मार्किट कमेटी के फील्ड सुपरवाईजर की मिलीभगत के कारण मंडी में बन रहीं हैं अवैध शेड, मकसूदां सब्जी मंडी में आजकल भ्रष्टाचार कुछ इस प्रकार बढ़ गया है कि मार्केट कमेटी और पंजाब मंडी बोर्ड के अधिकारी धीरे धीरे सरकारी ढ़ांचे को खत्म कर रहे हैं| ग़ौर हो कि काफ़ी समय से मंडी में कुछ कारोबारी धूप में बैठकर अपना कारोबार कर रहे हैं, वह इसलिए क्योंकि पिछले 20 वर्षो से कोई भी सरकारी शेड का इन्तेजाम नहीं| धूप में आजकल 8 बजे के बाद किसानो की सब्जी सूखना शुरू हो जाती है, किसी को इसकी कोई प्रवाह नहीं, मगर जो माया खर्च करता है, रातो रात उसकी शेड तैयार हो जाती है| दिन रात प्राइवेट शेड बन रहीं हैं, अभी दो जगह फ्रूट मंडी में दो नई शेड बनी है, 4 शेड सब्ज़ी मंडी मे बनाने के लिए तैयार हैं, जिनका मैटेरियल मंडी में पहुँच चुका है| सोचने वाली बात तो यह है कि बाकी कारोबारियों को शेड क्यों नहीं डालने दी जाती| किसी को लाइसेन्स रद्द करने की धमकी आ जाती है, किसी को नोटिस चला जाता है, इस से पता चलता है कि सरकारी सुविधाएँ बंद हो रहीं हैं और भ्रष्टाचार के चलते प्राइवेट ढ़ंग से मंडी को चला रहे हैं अधिकारी और कर्मचारी| क्या ये खेल ऐसे ही चलता रहेगा या कि पंजाब मंडी बोर्ड इस पर कोई कार्यवाही करेगा